Epf jankari

Know all about Epf/Eps/Esic/Uan/Gratuity/Pension informations in Hindi

EPFO (कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) ने देशभर में लगभग 9 लाख कर्मचारियों के पीएफ अकाउंट ब्लॉक कर दिए हैं| दरअसल केंद्र सरकार ने 80,000 ऐसे कंपनियों का पता लगाया है, जिन्होंने फॉर्मल सेक्टर में नए रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए केंद्र सरकार की एक फ्लैगशिप योजना PMRPY (प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना) का अवैध तरीके से लाभ उठाया है और केंद्र सरकार के 300 करोड़ रुपए का गलत तरीके से फायदा उठाया है|

क्या है “प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना”?

प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना 2016 से लागू की गई है और इसके तहत 1 अप्रैल 2016 के बाद से कंपनियां इस योजना के तहत रजिस्ट्रेशन कर इसका लाभ ले सकते हैं| इस योजना के तहत सरकार का लक्ष्य नए रोजगार उत्पन्न करना एवं नए रोजगार उत्पन्न कर रही कंपनियों को इंसेंटिव {प्रोत्साहन राशि} के तौर पर लाभ प्रदान करना है|

आपको बता दें कि प्राइवेट सेक्टर में काम कर रहे कर्मचारियों के बेसिक सैलरी का 12% पीएफ अकाउंट में जमा होता है, और इतना ही (12%) कंपनियों को भी कर्मचारी के पीएफ अकाउंट में जमा करना पड़ता है| लेकिन इस योजना (PMRPY) के तहत नए कर्मचारी का रजिस्ट्रेशन करने पर जो 12% कंपनियों को पीएफ अकाउंट में देना पड़ता है उसे सरकार चुकाती है| और इस तरह कंपनियों को 12% हिस्सा का बचत हो जाता है, जो उसे कर्मचारी के पीएफ अकाउंट में जमा करने पड़ते थे|

क्यों हुए 9 लाख पीएफ अकाउंट ब्लॉक?

दरअसल “प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के नियमानुसार इस योजना के अंतर्गत उन्हीं कर्मचारियों का रजिस्ट्रेशन हो सकता है, जिनका पहले कभी भी PF नहीं कटा है| लेकिन सरकार को 80,000 ऐसे कंपनियों का पता चला जिन्होंने इस योजना का गलत तरीके से फायदा उठाकर 9 लाख कर्मचारियों को इसके अंतर्गत रजिस्ट्रेशन किया और अपना 12% हिस्सा अवैध तरीके से केंद्र सरकार से हड़प लिया| जिसके तहत केंद्र सरकार के लगभग 300 करोड रुपए का अवैध तरीके से हनन किया गया है| इसलिए केंद्र सरकार ने योजना के अंतर्गत रजिस्टर्ड इन 9 लाख पीएफ खातों को ब्लॉक कर दिया है|

हालांकि आखिरी रिपोर्ट मिलने तक न्यूज़ मीडिया में बताया जा रहा है कि ईपीएफओ ने लगभग 222 करोड रुपए इन कंपनियों से वसूल लिए हैं,हो सकता है कि ईपीएफओ इन कंपनियों से पूरे 300 करोड रुपए वसूल करने के बाद पीएफ खातों को अनब्लॉक करेगा,ताकि EPF कर्मचारियों को किसी तरह का घाटा ना झेलना पड़े|

Related Posts

3 thoughts on “EPFO ने ब्लॉक कर दिए हैं 9 लाख पीएफ अकाउंट-जानिए क्यों?

  1. Thank you for wonderful video “PF transferred in already settled account”.
    In this video, you have said that one should upload scan copy of cheque, but can you please tell where can i upload it?
    One of my friends, has joined organization in 2015 left at 2016 (Company A) and withdrawn all the money. That account is settled. After few days i.e. 2016, he rejoined the same company (Company A) and his company has started depositing his contri. in previous “already settled account” by mistake. Now again he left the said company in 2019 and joined totally new company (Company B) and wants to transfer earlier PF into new account. However, his claim is rejected due to ‘already settled account”. But he has money is previous account. Further, in Service history, 2016-2019 period is missing. Only 2 entries are being reflected (2015-16 & 2019 – to current date).
    Please HELP as his online claim form is showing transfer from 2015-16 period to 2019-current period as the 2015-16 is already settled, his claim is getting rejected.
    Waiting for your reply. Where can he upload copy of cheque?

    1. When you submitt transfer claim there is no any option to upload any document.if he wants to only transfer his old pf.then he need to visit concerned pf office.another way he can withdraw full & final of old pf account.by writing in letter and attach with cheque?passbook,and upload.

  2. He has approched PF office. But they said he has to transact through online mode and Form 19 is not getting reflected online as he is working in other company at present.
    Please guide me.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *